Skip to main content

Posts

Showing posts from December, 2019

8. Become Indian Donor

"इंडियन दाता " बनें : यह बिना कुछ दिए पाने की ताकत हैं | जब अमेरिका (America ) में गोरे लोग गए, तो उन्हें अमेरिकन इंडियंस (American Indians ) की सांस्कृतिक परंपरा से झटका लगा | उदहारण के तौर पर, अगर किसी गोरे  आदमी को ठंड लगती थी, तो इंडियंस (Indians) उसे कंबल दे देते थे | श्वेत प्रवाशी इसे उपहार समझ लेते थे और जब इंडियन कम्बल वापस मांगता था तो उन्हें बहुत बुरा लगता था | 
          इंडियन को भी बुरा लगता था जब उन्हें पता चलता था की श्वेत  प्रवासी कंबल वापिस नहीं  चाहते थे | इस तरह " इंडियन दाता " वाक्यांश पैदा हुआ | एक छोटी सी सांस्कृतिक नासमझी के कारण | 
          संपत्ति ( Assets ) की दुनिया में इंडियन दाता  बनना दौलत  लिए बहुत जरुरी हैं | इसमें निवेशक  का पहला सवाल यही होता हैं , "मेरे पैसा मुझे कितनी जल्दी वापिस मिल जायेगा ?" वे ये भी जानना चाहते  हैं उन्हें मुफ्त में क्या  मिलने जा रहा हैं | 
उदहारण के तौर पर मुझे एक छोटा रियल एस्टेट ( Real Estate ) मिला जो मेरे घर से थोड़ी ही दुरी पर था | बैंक Rs. 42,00,000 लाख चाहती थी और मैंने Rs. 35,00,0…

7. Give good money to your broker or financial advisor

अपने ब्रोकर या फाइनेंसियल एडवाइजर (Broker or Financial Advisor ) को अच्छा पैसा दें : अच्छी सलाह की शक्ति | मैं अक्सर देखता हूँ की लोग अपने घर के सामने पट्टी टाँग देते हैं, " मालिक बेचना चाहता हैं "| या मैं टीवी पर देखता हूँ की कई लोग (Discount  Brokers) होने का दवा करते हैं | 
          मैं इस बात में भरोसा करता हूँ की Professional  को अच्छा भुगतान किया जाये, क्योकि  अगर लोग प्रोफेशनल हैं तो उनकी सेवाओं से आपको पैसा मिलना चाहिए | और वे जितना ज्यादा पैसा कमायेंगे, आप भी उतना ही ज्यादा पैसा कमायेंगे |  हम सुचना के युग में रह रहे हैं | सुचना बेशकीमती हैं | एक अच्छा ब्रोकर्स आपको सुचना तो देगा ही, आपको शिक्षित करने के लिए समय भी देगा | 
          मैं ब्रोकर्स को जितना पैसा देता हूँ वे मेरे द्वारा उनकी सुचना से कमाए गए धन का बहुत छोटा हिस्सा होता हैं | मैं इसे पसंद करता हूँ क्योकि इसका आम तौर पर यह मतलब होता हैं की मैंने भी बहुत सा पैसा कमाया हैं | एक अच्छा ब्रोकर्स मुझे पैसे कमाने की जानकारी देने के अलावा मेरा समय भी बचाता हैं| 
          ब्रोकर आपके लिए बाजार के आंख और कान…

Pay Yourself First : Part B

क्या आप इसे देख सकते हैं ? पिछले लेख पर दिया हुआ चित्र उस व्यक्ति का काम दर्शाता हैं जो खुद का भुगतान सबसे पहले करता हैं | हर महीने अपने मासिक खर्चे का भुगतान करने से पहले वे अपने सम्प्पती वाले कॉलम में डालते हैं | 
          अब मैं आप में से उन लोगो का चीख पुकार सुन सकता हूँ जो अपने बिल का भुगतान सबसे पहले करने में गम्भीरतापूर्वक विस्वाश करते हैं | और मैं यह भी सुन सकता हूँ की सभी 'जीम्मेदार लोग अपने बिल समय पर चूकते हैं | मैं यह नहीं कहता की आप - गैर जिम्मेदार हो जाये या बिल का भुगतान न  करे | 
ऐसा व्यक्ति जो हर एक को पहले चुकता हैं आखिर में उसके पास अक्सर कुछ नहीं बचता |           मेरे जीवन में ऐसे भी महीने आये हैं जब किन्हीं कारणों से मेरा कैशफ्लो मेरे बिल्स से काफी कम रहा हैं | फिर मैंने खुद को ही सबसे पहले पैसे दिया | मेरे एम्प्लॉयर ( Employer ) और बैंक चीखने लगे | " वे आपके पीछे पड़ जायेंगे | आपको जेल भी हो सकती हैं |" " आप अपनी क्रेडिट रेटिंग बिगाड़ लेंगे | वे लोग बिजली काट देंगे | मैंने फिर भी सबसे पहले खुद को ही पैसा दिया |"
         हालाँकि मै…

6. Pay Yourself First

खुद क सबसे पहले वेतन दें : खुद पर अनुशासन की ताकत | अगर आप खुद पर अनुशासन नहीं रख पाते, तो अमीर बनने की कोशिश भी न करे | आपको इससे पहले किसी धार्मिक संस्था में जाना चाहिए ताकि आपको खुद पर काबू रखना आ जाये | इस बात का कोई मतलब नहीं हैं की निवेश करे, पैसा कमाएँ और उसे फूँक दे | खुद पर अनुशासन की कमी के कारन ही करोड़ो डॉलर की लॉटरी जितने वाले लोग जल्द ही दिवालिया हो जाते हैं | यह खुद पर अनुशासन की कमी ही हैं जिससे तनख्वाह बढ़ने पर लोग तत्काल बाजार जाकर नई कार खरीद लेते हैं या विदेश यात्रा पर निकल जाते हैं | 
           यह कहना कठिन हैं की दस कदमो में कोन सा सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं | परंतु सभी कदमो में से इस कदम का विषेशज्ञता सबसे कठिन हैं, अगर यह सबसे पहले ही मौजूद न हो | मैं तो यह भी कहना चाहूंगा की खुद पर अनुशासन की कमी ही वह सबसे बड़ा कारन हैं जो लोगो को तीन समुदायों में बढ़ता हैं, अमीर, गरीब और मध्य वर्ग | 
          सीधे तरीके से कहे तो जिन लोगो में आत्मा-सम्मान काम होता हैं और जो फाइनेंसियल दबाओ को ज्यादा सहन नहीं कर पते, वे कभी अमीर नहीं बन सकते और कभी नहीं का मतलब कभी नहीं | जैसे…

5. Become an expert on a formula and then learn another new formula

जल्दी सीखने की ताकत | ब्रेड बनाने के  लिए हर बेकर के पास  फॉर्मूले होते हैं चाहे वह उसके दिमाग में ही क्यों न हो | यही पैसा बनाने क बारे में भी सही हैं | इसलिए धन को अक्सर "डो" (Dough ) भी कहा जाता हैं | 
          हममे से ज्यादातर लोगो ने  यह कहावत सुनी हैं, "आप वही हैं जो आप खाते हैं|" मैं इसी कहावत को दूसरी तरह से कहना चाहूंगा | मैं कहता हूँ," आप वह बनते हैं जो आप पढ़ते हैं |" दूसरे शब्दों में, आप सावधान रहे की आप क्या पढ़ रहे हैं या क्या सीख  रहे हैं क्योकि आपका दिमाग इतना ताकतवर हैं की आप जिस चीज के बारे में सीखेंगे, आप वही बन जायेंगे |           उदाहरण के तौर पे, अगर आप कुकिंग सीखेंगे तो आप कुक बन जाते हैं | अगर आप कुक नहीं बनना चाहते हैं तो आपको कोई और विषय पढ़ना चाहिए | जैसे, एक स्कूल टीचर | शिक्षण का अध्यन कर लेने के बाद आप अक्सर शिक्षक बन सकते हैं | और इसी तरह सिलसिला जारी रह सकता हैं | आप अध्ययन के विषय को अच्छी तरह चुने | 
          जब पैसे की बात आती हैं, तो ज्यादातर लोगो के पास वही मूलभूत फार्मूला फोटा हैं जो उन्होंने स्कूल में सीखा थ…

4. अपने दोस्तों को सावधानी से चुनें

साथ रहने की ताकत | सबसे पहले तो  मैं यह बता दू की मैं अपने दोस्तों को उनकी अमीरी के हिसाब से नहीं चुनता | मेरे ऐसे भी दोस्त हैं जिन्होंने गरीबी में जीने की कसम खाई हैं और ऐसे दोस्त भी हैं हर साल करोड़ो या लाखो कमाते हैं | मुददे की बात यह हैं की मैं उन सभी से सीखता हूँ और पूरा मन लगाकर उनसे सीखने की कोशिस  करता हूँ | 

          मैं यह मानता हूँ की मैंने अमीर लोगो की तलाश की हैं | किंतु मेरा नजर उनकी दौलत पर नहीं, बल्कि उनके ज्ञान पर थी | कई मामलो में ऐसे अमिर लोग मेरे अच्छे दोस्त बन गए जबकि कई बार ऐसा नहीं हुआ | 
          परन्तु मैं आपको एक अंतर बताना चाहता हूँ | मैंने यह पाया हैं की मेरे पैसे वाले दोस्त पैसे के बारे में बात करते हैं | और मेरा मतलब यह नहीं  हैं की उन्हें पैसे का घमंड हैं | वे इस विषय में रूचि रखते हैं | इसलिए मैं  उनसे सीखता हूँ और वे मुझसे | मेरे वो दोस्त जो आर्थिक दलदल में फंसे हुए हैं वे पैसे, व्यवसाय या निवेश के बारे में बात करना पसंद नहीं करते | उनके नजर में ऐसा नहीं करना मूर्खतापूर्ण या बेईमानी होता हैं | इसलिए, मैं अपने गरीब दोस्तों से यह सीखता हूँ की मुघे क्या…

3. Invest In Education First

वास्तव में, आपके पास जो इकलौती असली संपत्ति हैं वह हैं आपका दिमाग, जो आपके सबसे शक्तिशाली यन्त्र हैं | जैसे मैंने विकल्प की ताकत के बारे में कहा हैं, पर्याप्त बड़े हो जाने के बाद हममे   से हर एक के पास विकल्प मौजूद होता हैं की हम अपने दिमाग में क्या रखते हैं | आप सारा दिन टीवी  (T. V), या मैगज़ीन्स (Magazines) पढ़ सकते हैं, फेसबुक ( Facebook), व्हाट्सप्प  (Whats's App), या फाइनेंसियल प्लानिंग (Financial Planning ) के क्लास में जा सकते हैं | विकल्प आप चुनते हैं | ज्यादातर लोग निवेश बस निवेश खरीदते हैं, परंतु इसके पहले निवेश के बारे में ज्ञान हासिल करने के लिए जरा भी पैसा खर्च नहीं करते हैं | 
          मेरा एक मित्र हैं जो अमीर हैं | अभी  हाल में उनके घर पे चोरी हो गई | चोर उसके घर से टीवी (टी.व्), लैपटॉप (Laptop ) ले गए और किताबे जैसे की तैसे  छोड़ गए | और हम सभी के पास इसी तरह के विकल्प मौजूद होते हैं | ९० फीसदी लोग टीवी सेट, 2 व्हीलर , या car  खरीदते हैं और केवल १० % लोग बिज़नेस पर पुस्तके खरीदते हैं हैं | 
          और मैं क्या करता हूँ ?  सेमिनार में जाता हूँ | मैं ऐसे सेमिनार को …