Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2019

2. If you don't have any compelling reasons then it make no sense to study further

अगर आपके पास कोई समझदार कारन नहीं हैं, तो आगे पढ़ने में कोई  समझदारी नहीं हैं | इसमें बहुत ज्यादा मेहनत लगेगी | वीकल्प चुनने की ताकत | यह मुख्या कारन होता हैं की एक आजाद देश में रहना चाहते हैं | 
          आर्थिक रूप से, जब हमारे हाथ में एक भी डॉलर होता हैं तो यह हमारे हाथ में होता हैं हम भविष्या में अमीर, गरीब या मध्य वर्गीय बनने का विकल्प चुनें | हमारे खर्च करने की आदते बताती हैं की हम कोण हैं | गरीब लगो की खर्च करने की आदते गरीब की होती हैं |


          ज्यादा तर लोग अमीर न बनने की विकल्प चुनते हैं | 90 फीसदी लोगों के लिए आमिर बनना बहुत झंझट का काम" हैं | तो वे इस तरह की कहावते ईजाद कर लेते हैं, " पैसे में मेरे कोई रूचि नहीं हैं |" या " मैं कभी अमीर नहीं बनूँगा" | या " मुझे चिंता करने की कोई जरुरत नहीं हैं, अभी तो  हूँ |" या " मेरे पति या पत्नी फाइनेंसियल पहलू को संभालते हैं या संभालती हैं |" इन वाक्यों के साथ समस्या यह हैं की यह बोलने वाले से दो चीजे लूट लेते हैं : एक तो हैं समय, जो आपकी सर्वाधिक कीमती सम्पत्ति हैं और दूसरी शिक्षा | सिर्फ …

1. मुझे हकीकत से ज्यादा बड़ा कारण चाहिए

आत्मा की शक्ति |  ज्यादातर लोगो से पूछेंगे कि क्या वे आमिर या आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना चाहेंगे तो वे "हं" कहेंगे | परंतु फिर हकीकत हावी हो जाते हैं | यह सड़क  बहुत  नजर आती हैं और इसपर बहुत से तेकरियाँ भी दिखती हैं जिन्हे पार करना होगा | इसकी तुलना में यह ज्यादा आसान लगता हैं की  आप पैसे के लिए काम करें और बचे हुए पैसे अपने ब्रोकर को दें | 


" हम क्या चाहते हैं" और "हम क्या नहीं चाहते हैं " इनका तालमेल भी एक कारण यह लक्ष्य हो सकता हैं | जब लोग मुजसे पूछते हैं की अमीर होने की इच्छा के पीछे कारन क्या था तो यह गहरी भावनात्मक इच्छाओं और अनिछाओ का संयोग होता हैं | 
मैं कुछ की सूचि बताऊंगा | पहले तो अपनी 'अनिच्छाओं ' की क्योकि उन्ही के कारन 'इच्छायें' पड़ा होती हैं | मैं सारी जिंदगी नौकरी नहीं करना चाहता था | मैं वो नहीं चाहता था जो मेरे माता - पिता चाहते थे, यानि नौकरी की सुरक्षा और उपनगर में एक घर | मैं एक कर्मचारी नहीं बने रहना चाहता था | मेरे डैडी साडी जिंदगी कड़ी मेहनत करते रहे और सरकार ने उनकी मौत पर उनकी कमाई  के ज्यादातर हिस्सा ले लिया, …

शुरू करना

काश ऐसा होता कि मैं कह सकता की दौलत बनाना (कमाना) मेरे लिए  आसान रहा हैं , परंतु ऐसा नहीं था |   तो इस सवाल के जवाब में, "मैंने किस तरह शुरू किया ?" मैं दिन - प्रति -दिन के हिसाब से अपनी विचार प्रक्रिया को बताना चाहता हूँ | बड़े सौदे को खोजना सचमुच आसान हैं | मैं आपसे यह वडा कर सकता हूँ | यह मोटरसाइकिल चलने की तरह हैं | थोड़े से अभ्यास के बाद आपको इसका पता ही नहीं चलता | जब पैसे की बात आती हैं, तो आप अगर संकल्प कर ले तो थोड़ी देर डगमगाने के बाद आप संभल जाते हैं | 
          " जिंदगी में एक बार आने वाले" करोड़ो डॉलर के सौदे को खोजने क लिए हममें फाइनेंसियल प्रतिभा होना जरुरी हैं | मुझे भरोसा हैं की हम सभी के भीतर एक फाइनेंसियल जीनियस होता हैं | समस्या यह हैं की हमारा फाइनेंसियल जीनियस सोया  होता हैं और उसे बुलाकर जगाने की जरुरत होता हैं | यह इसलिए सोया रहता हैं की क्योकि हमारी संस्कृति ने हमारे भीतर यह सँस्कार डाल रखे हैं कि पैसे का मोह सभी बुराइयों का जड़ हैं | इस संस्कृति ने हमें प्रोफेशन सिखने के लिए तो प्रोत्साहित किया हैं ताकि हम पैसे के लिए काम कर सके, परंतु हमें यह…

और ज्यादा चाहिए ? कुछ काम जो आपको करना चाहिए

हो सकता हैं कि कई लोग मेरे बातो से संतुस्ट  न हों | उनकी नजर में यह फिलॉसोफी ज्यादा हैं, और इसमें काम की बाटे काम हैं | मैं यह मानता हूँ की फिलॉसोफी भी उतना ही महत्वपूर्ण हैं जितना की काम की बाते | ऐसा कई लोग हैं जो सोचने के बजाय करना चाहते हैं और कुछ लोग भी हैं जो सोचते हैं परन्तु करते कुछ नहीं हैं| मैं यही कहूंगा की मैं दोनों प्रकार के लोगो का संयोग हूँ | मैं नए विचारो को पसंद करता हूँ और मैं काम करना भी पसंद करता हूँ | 
     तो उन लोगो के लिए जो "किस तरह शुरू करें " के बारे में कुछ मार्गदर्शक बातें जानना चाहते हैं, मैं संक्षेप में कुछ ऐसा बाटे बताऊंगा जो मैं करता हूँ |  आप जो कर रहे हैं, व करना बंद कर दें | दूसरे शब्दों में, अवकाश लें और आकलन करे के कोनसी चीज़ काम आ रही हैं और कोनसी चीज काम नहीं आ रही हैं | पागलपन की परिभासा यही हैं की आप वही चीज़ करते चले जाए और अलग परिणाम की अपेक्षा करे | जो सफल नहीं हो रहा हैं वह करना बंद कर दे और कुछ नया करने की खोज करे | नए विचारे की तलाश करे | नए निवेश के विचारे को लिए मैं पुस्तक की दुकाने में जाता हूँ और अलग अलग और अनूठे विषयों …

बच्चों के लिए वित्त ज्ञान

धन -दौलत का विषय स्कूल में नहीं, बल्कि घर पर पढ़ाया जाता हैं | शायद इसीलिए अमीर लोग और ज्यादा अमीर होते जाते हैं, और गरीब और ज्यादा गरीब होते जाते हैं और मध्य वर्ग कर्ज में डूबे रहते हैं | हममें से ज्यादातर लोग पैसे के बारे में अपने माता-पिता से सिखाते हैं | कोई गरीब पिता अपने बच्चे को पैसे के बारे में क्या सीखा सकता हैं ? वह सिर्फ इतना ही कह सकता हैं, " स्कूल जाओ और मेहनत से पढ़ो |" हो सकता की वह बच्चा अच्छे नम्बरो से कॉलेज की पढाई पूरी कर ले | फिर भी पैसे के मामले में उसकी मानसिकता और सोचने का ढँग  आदमी जैसा ही बना रहेगा | 

     धन का विषय स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता | स्कूल में शैक्षणिक और व्यावसायिक कौशल पर जोर दिया जाता हैं, न की धन संभंधी शिक्षा पर | इससे यह साफ हो जाता हैं कि जिन स्मार्ट बैंकर्स, डॉक्टर्स, और एकाउंटेंट्स के स्कूल में अच्छे नंबर आते हैं वे जिंदगी भर पैसे के लिए संघर्ष क्यों करते हैं | हमारे देश पर जो भरी कर्ज लदा हुआ हैं वह काफी हद तक उन उच्च शिक्षित राजनेताओं और सरकारी अधिकारियो के कारन हैं जो आर्थिक नीतियाँ बनते हैं और मजे की बात यह हैं की वे धन …

What Is Money?

पैसा एक विचार हैं | अगर आप ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं तो केवल अपने विचारों को बदल लें | हर आत्म - निर्मित व्यक्ति ने छोटे पैमाने पर एक विचार से शुरुआत की थी और बाद में इसे बड़ा किया था | यही निवेश के बारे में भी लागू होता हैं | शुरू करने के लिए केवल कुछ रुपये ही काफी हैं और बाद में इससे बड़ा रकम बनाई जा सकती हैं | मैं ऐसे बहुत से लोगो से मिलता हूँ जो जिंदगी भर किसी बड़े सौदे के पीछे  भागते रहते हैं या बड़े सौदे के लिए बहुत से पैसे जुटाते रहते हैं, परन्तु मेरे नजर में यह मूर्खता पूर्ण हैं | ज्यादातर मैंने ना समज निवेशकों को अपना बड़ा पैसा एक ही समझौते में लगते हुए और इस कारन से उन्हें तेजी से बर्बाद होते हुए देखा हैं | वे अच्छे काम करने वाले हो सकते हैं, वे अच्छे नागरिक हो सकते हैं परंतु वे अच्छे निवेशक नहीं थे | 
पैसे के बारे में शिक्षा और बुद्धि महत्वपूर्ण हैं | जल्दी शुरुवात करे | कोई पुस्तक ख़रीदे | किसी सेमिनार में जाये | अभ्यास करे | छोटी शुरुवात करें |  
आपके हाथ में क्या हैं, इस बात का निर्णय इस बात से होता हैं कि आपके दिमाग में क्या हैं | पैसा केवल एक विचार हैं | एक बहुत बढिये पुस…
वही करो जो तुम्हे दिल से अच्छा लगता हैं - क्योंकि तुम्हारे हर बात में आलोचना होगी | अगर तुम काम करोगे तो भी तुम्हारी आलोचना होगी, और तुम कोई काम नहीं करोगे तो भी तुम्हारी आलोचना होगी |

Everything You Need To Know About Yourself

आप सभी को दो महान  उपहार  दिए गए थे : आपका दिमाग और आपका समय ! यह आपके हाथ में हैं कि आप इनका मनचाहा उपयोग कर सकते हैं ! 
आपके हाथ में आने वाला हर डॉलर से आपको और केवल आपको वह ताकत मिल जाती हैं जो आपकी तक़दीर बनती या बिगाड़ती हैं ! 
अगर आप इसे मूर्खता पूर्ण तरीके से खर्च करते हैं तो आप गरीब रहने का विकल्प चुनते हैं ! 
अगर आप इसे दायित्वों पर खर्च करते हैं तो आप मध्य वर्ग में रहने का विकल्प चुनते हैं ! 
अगर आप इसे दिमाग में निवेश  करते हैं और सिख लेते हैं कि किस तरह सम्पतियों को बनाया जाता हैं तो आप दौलतमंद होने का विकल्प चुनते हैं ! चुनाव आपका हैं और केवल आपका  हैं ! हर दिन,  हर डॉलर के साथ आप अमीर, गरीब या मध्य वर्गीय होने का विकल्प चुनते हैं !
अगर आप इस ज्ञान को आपने बचो के साथ बाटने का विकल्प चुनते हैं जो आप आज करते हैं तो आप उन्हें दुनिया क लिए त्यार करने का विकल्प चुनते हैं जो उनका इंतजार कर रही हैं 
आप और आकपे बचे का भविष्य उस चुनाव पर निर्भाव करता हैं जो आप आज करते हैं, आने वाले कल में नहीं !